खरपतवार

फसली पादपों के साथ उगे वे अवांछित और अनुपयोगी पादप जो फसल की वृद्धि में बाधा उत्पन्न करते है, खरपतवार कहलाते हैं। विलायती गोखरू ( जैथियम ), [[गाजर घास ( पारथेनियम ) व मोथा ( साइप्रस रोटेंडस ) इत्यादि खरपतवार के उदाहरण है।

साइप्रस रोटेंडस
मोथा एक बहुवर्षीय पौधा है। मोथा एक तरह की घास (Cyperus Rotundus) है जो किसानों के लिए सिर दर्द बनी रहती है। मोथा घास खेती के लिए अभिशाप मानी जाती है क्योंकि यह इतनी तेजी से फैलती है कि खेतों में लगी फसल को बर्बाद कर देती है।
मोथा का उन्मूलन कठिन है लेकिन खरपतवार नाशी का कर्षण विधि (निराई गुडाई) के साथ एकीकृत प्रयोग करने से बहुत प्रभावी नियन्त्रण होता है। इसके कन्दों की संख्या 2,4-D व बार-बार जुताई करने से कम हो सकती है।