क़ुतुब मीनार


क़ुतुब मीनार का निर्माण कुतुबुद्धीन ऐबक द्वारा कराया गया। इसका निर्माण मीनार के रूप में करवाया गया था। क़ुतुब मीनार की ऊंचाई (लम्बाई) 73 मीटर है। क़ुतुब मीनार में पांच मंजिलें हैं। प्रत्‍येक मंजिल में एक बालकनी है और इसका आधार 1.5 मी. व्‍यास का है जो धीरे-धीरे कम होते हुए शीर्ष पर 2.5 मीटर का व्‍यास रह जाता है। इस मीनार की पहली तीन मंजिलें लाल बलुआ पत्‍थर से निर्मित है तथा चौथी व पांचवीं मंजिलें संगमरमर और बलुआ पत्‍थरों से निर्मित हैं। मीनार के निकट भारत की पहली क्‍वातुल-इस्‍लाम मस्जिद है। यह 27 हिन्‍दू मंदिरों को तोड़कर इसके अवशेषों से निर्मित की गई है। मस्जिद के निर्माण हेतु इनकी लूटपाट की गई थी।

दिल्‍ली के पहले मुस्लिम शासक कुतुबुद्धीन ऐबक ने इसका निर्माण कार्य शुरु कराया किन्‍तु वे केवल इसका आधार ही पूरा कर पाए थे। इनके उत्‍तराधिकारी अल्तमश ने इसकी तीन मंजिलें बनाई और 1368 में फिरोजशाह तुगलक ने पांचवीं और अंतिम मंजिल बनवाई थी।

क़ुतुब मीनार की लम्बाई

क़ुतुब मीनार की लम्बाई 73 मीटर है।


श्रेणी :